Machail Mata Darshan Video

https://www.facebook.com/106771242726389/videos/1622266447843520

Watch exclusive Machail Mata Darshan Video only on our website. इस बहुत ही दुर्लभ विडियो को ध्यान से देखें। इस में माता मचेल वाली अपने भक्तों को दर्शन दे रही हैं। कृप्या माँ सरस्वती की प्रतिमा पर ध्यान केंद्रित करें (आपके सब से बायें ओर) आपको माँ का दाहिना करणमंडल हिलते हुए दिखेगा। ज्ञात रहे कि माता का कोई भी अभूषण अथवा मन्दिर की और कोई भी वस्तु नहीं हिल रही। मन्दिर के भीतर कोई पंखा भी नहीं है।

Machail_mata_darshan

श्री माता मचेल इस चित्र में सबसे दाहिने ओर पिंडी के रूप में प्रकट हुई हैं। ध्यानपूर्वक देखने पर आपको दिखेगा कि माता के शीर्ष के ऊपर जो मुकुट सुसज्जित है उसके ऊपर सोने का छत्र भी चढ़ा है। दाहिने क्रम से दूसरी प्रतिमा आपको माता श्री काली की मिलेगी, तीसरी मनमोहक प्रतिमा देवी लक्ष्मी माता की है और सबसे बायीं ओर में माता श्री सरस्वती की है।

Watch another Machail Mata Darshan Video Below

ऐसा माना जाता है कि माता कभी भी अपने भक्तो को दर्शन से वंचित नहीं करती हैं और जो कोई भी भक्तिभाव से अथवा सच्चे मन से माता के दर्शनों का अभिलाशी होता है माता उन्हें अपने साक्षात् दर्शन देकर धन्य करतीं हैं।

माता मचेल की यात्रा हर साल अगस्त के महीने में आरंभ होती है। आप यहां पर हवाई सेवा से अथवा पैदल भी पहुंच सकते हैं। हवाई सेवा गुलाब गढ़ से शुरू होती है। इस सफर में केवल 7-8 मिनट लगते हैं और पैदल सफर करने पर गुलाब गढ़ से मचेल की दूरी 30 – 35 किलोमीटर की है जिसे आप 1 या 2 दिन में पड़ाव पड़ाव में पूरी कर सकते हैं।

विडियो स्त्रोत – प्रदीप परिहार, अठोली, पाडर।

कृप्या इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करें ताकि ये बहुत लोगों तक पहुंच सके। जै माता की।

Subscribe

Related articles

00:33:55

Cerro Kishtwar | Watch the Story of Ascend

Cerro Kishtwar, a tough mountain peak located in Paddar...

Gulabgarh Paddar | Driving During Winters

A wonderful place to be at Gulabgarh Paddar during...

Driving on Paddar Road in Snow

https://www.facebook.com/106771242726389/videos/1759646247438872 This video covers a part of Paddar Road from...

Watch Wedding Dance on Dhol during Snowfall in Paddar

A true friend will never shy away for a...

1 COMMENT

Comments are closed.